सदाचार पर निबंध – Sadachar Par Nibandh in Hindi

दोस्तों, हमने अपने Hindi Essay वाले पिछले आर्टिकल में विद्यार्थी जीवन (Student Life) पर हिंदी में निबंध पढ़ा था।

 

अगर आप स्टूडेंट लाइफ के बारे में अच्छी तरह जानना चाहते है तो आप विद्यार्थी जीवन पर हिंदी में निबंध को जरूर पढ़े।

 

खैर, आज के इस आर्टिकल का टॉपिक “सदाचार” है, जिसके बारे में हम इस आर्टिकल में जानेंगे और सदाचार पर हिंदी में छोटा-सा निबंध भी पढ़ेंगे।

 

सदाचार पर निबंध हिंदी में – Sadachar Essay in Hindi Language

sadachar par nibandh

 

सदाचार का तात्पर्य है – अच्छा व्यवहार या शुभ आचरण। दया, करुणा, ममता, शिस्टता, सच्चाई, कर्तव्यनिष्ठता आदि मानवीय गुण हैं। मन, वाणी और कर्म द्वारा जो व्यवहार किया जाए, वह आचरण कहलाता हैं।

 

सदगुणों की प्रप्ति समान्य प्रयास से नहीं हो सकती। इनकी प्रप्ति के लिए कठोर साधना, संयम, त्याग और तपस्या की आवश्यकता होती हैं।

 

सम्पूर्ण संपदा एवं ऐस्वर्य से पूर्ण अथवा सम्पूर्ण विधाओं में पारंगत व्यक्ति भी यदि चरित्रहीन है, तो वह समाज में आदर का पात्र नहीं हो सकता हैं।

 

व्यक्ति की पूँजी उसका चरित्र-बल या सदाचरण हैं। सदाचरण के द्वारा मनुष्य अपना तथा समाज दोनों का कल्याण कर सकता हैं जिसके पास चरित्र-बल है, वह अजेय हैं।

 

जीवन के समस्त सुख और ऐस्वर्य का मूल आधार सदाचार ही है। व्यक्ति में सदाचार का गुण सुशिक्षा और सत्संगति से आता हैं।

 

सदाचार का पालन करने वाले व्यक्तिओ को विशेष रूप से अपने मन पर नियंत्रण रहना आवशयक हैं। मन तथा इंद्रियों पर नियंत्रण करने वाले सदा सन्मार्ग पर चलने वाले होते हैं।

 

सदाचार का गुण तो सब में होना चाहिए किन्तु छात्रों के लिए यह अनिवार्य है। सदाचार का गुण अपनाकर विद्यार्थी अपने जीवन में बहुत आसानी से सफल हो सकते हैं।

 

Final Thoughts – 

 

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में आपने सदाचार पर हिंदी में निबंध पढ़ा। मुझे पूरा विस्वास है की आपको यह हिंदी निबंध (Hindi Essay) जरूर अच्छा लगा होगा।

 

आप यह भी हिंदी निबंध पढ़ सकते हैं –

Leave a Comment

error: