Balanced Diet Meaning in Hindi

Balanced Diet Meaning in Hindi

Noun

  • संतुलित आहार

Pronunciation (उच्चारण)

  • Balanced Diet – बैलेंस्ड डाइट

Balanced Diet Meaning and Definition in Hindi

संतुलित आहार एक सापेक्षिक पद है। यह एक व्यक्ति के लिए जो संतुलित आहार है, वह दूसरे के लिए भी संतुलित हो यह जरूरी नहीं हैं।

विभिन्न व्यक्तियों को विभिन्न मात्रा में भिन्न-भिन्न पदार्थों की जरुरत होती है। यह भिन्नता व्यक्ति की आयु, लिंग, शरीर का आकार, जलवायु, व्यवसाय आदि की भिन्नता के कारण होती हैं :-

(a) आयु :- बच्चों को उनके शरीर के भार को देखते हुए प्रौढ़ों की अपेक्षा अधिक मात्रा में भोज्य तत्वों की जरूरत होती है क्योंकि आहार से वे केवल शक्ति व गर्मी ही प्राप्त नहीं करते बल्कि यह इन्हें शरीर की वृद्धि के लिये भी जरूरी होता है।

उन्हें वसा और खाद्यान्न ज्यादा में चाहिए। वृद्धावस्था में आहार की मात्रा कम हो जाती है क्योंकि इस अवस्था में मनुष्य की पाचन शक्ति कमजोर हो जाती है और वह शारीरिक क्रिया भी कम करता है।

(b) लिंग :- स्त्री को पुरूष की अपेक्षा कम आहार की जरूरत होती है क्योंकि वह पुरूष की अपेक्षा लम्बाई व भार में कम होती है तथा शारीरिक श्रम कम करती है। परन्तु गर्भावस्था और स्तनपान अवस्था में उसे जरूरत से ज्यादा पदार्थ की अवस्था होती है।

(c) शरीर का आहार :- लम्बे और भारी मनुष्य को ठिगने और दुबले पतले व्यक्ति की अपेक्षा ज्यादा चाहिये।

(d) जलवायु :- आहार की मात्रा पर जलवायु पर भी प्रभाव पड़ता है। ठण्डे देश के निवासियों को गर्म देश के निवासियों की अपेक्षा ज्यादा भोजन चाहिये क्योंकि ठण्डे देशों में गर्म देशों की अपेक्षा ताप का उपभोग ज्यादा होता है।

इसी तरह गर्मी के मौसम में भूख कम लगती है तथा शरीर का भार कम हो जाता है परन्तु सर्दियों में ज्यादा भूख लगने के कारण अधिक भोजन किया जाता है तथा शरीर का भार भी बढ़ जाता है।

(e) परिश्रम :- शारीरिक परिश्रम करने वालों को ज्यादा भोजन की जरूरत होती है। परिश्रम करने में उनकी शक्ति व गर्मी की पर्याप्त रूप से व्यय होती है। कमी को पूरा करने के लिये भोजन में कार्बोज की मात्रा ज्यादा होनी चाहिए।

इसके विपरीत आराम से बैठने वालों, हल्का शारीरिक परिश्रम करने वालों तथा मानसिक कार्य करने वालों को कम भोजन की जरूरत होती है। इसके भोजन में कम कार्बोज और प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होनी चाहिए।

Also Read –

Leave a Comment

error: