विज्ञान पर निबंध – Science Essay in Hindi Language

आज के इस हिंदी निबंध के आर्टिकल में आप विज्ञान पर निबंध (Essay on Science in Hindi) पढ़ सकते हैं जिसमे कुल दो निबंध दिया गया हैं।

इस आर्टिकल से पहले हमने फुटबॉल एवं पर्यावरण पर निबंध हिंदी में पढ़ा था अगर आपने इसे नहीं पढ़ तो आप यह भी पढ़ सकते हैं।

Science Essay in Hindi Language

विज्ञान के साथ मानव जीवन का घनिष्ठ सम्बन्ध है। विज्ञान के चमत्कारिक आविष्कारों के प्रभाव से सारा संसार घर-आँगन सा प्रतीत होने लगा है। विज्ञान ने ‘समय’ और ‘दुरी’ पर अधिकार कर लिया हैं। 

आज विज्ञान द्वारा रेल, मोटर, जलयान, वायुयान, रॉकेट और अंतरिक्ष यान बनाये जा चुके हैं जिनके द्वारा दो स्थानों के बीच की दुरी समाप्त हो गई है। 

जिन स्थानों की यात्रा मनुष्य महीनों और वर्षों के अधक श्रम के बाद पूरी करता था, अब इन स्थानों की यात्रा घंटो और मिनटों में पूरी हो जाती है। 

आज विज्ञान की मदद से हम चाँद पर चुके हैं और इतना ही नहीं हम लोग मंगल एवं शुक्र ग्रह पर भी जाने के लिए मेहनत कर रहे हैं। 

विज्ञान ने हमें वायरलेस, टेलीफोन, रेडियो एवं टेलीविज़न दिए हैं, जिनके द्वारा संसार भर का समाचार घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं। 

विज्ञान ने बिजली के रूप में मनुष्य को एक महान शक्ति प्रदान की है। जिसकी मदद ढ़ेर सारे काम आसान हो जाते हैं। 

एक और विज्ञान ने अगर मनुष्य के लिए सुख और सुविधाओं का अम्बार लगा दिया है, तो दूसरी तरफ मानवता के विनाश के लिए कई प्रकार के हथियार बना दिया हैं। 

जिससे पल भर में पूरी मानव जाति का विनाश संभव हैं इसिलए विज्ञान का उपयोग हमेशा मनुष्य के जीवन को बेहतर करने में प्रयोग करना चाहिए ना विनाश करने में।

यह भी पढ़े –

**************

Essay on Science in Hindi Language

विज्ञान ने दुनिया में बड़े-बड़े चमत्कार किए हैं। इसने मनुष्य को महान शक्तियाँ प्रदान की हैं। इन शक्तियों से मनुष्य ईश्वर को चुनौती दे रहा है।

मनुष्य एक-एक करके प्रकृति के रहस्य की खोज करते जा रहा है। हमने समय, दूरी और स्थान को जीत लिया हैं लेकिन इससे भी संतुष्ट नहीं हैं।

हम चंद्रमा, शुक्र और मंगल जैसे ग्रहों को जीतने की तैयारी कर रहे है। विज्ञान ने मानव जीवन में क्रांति ला दी है।

प्राचीन काल में मनुष्य कृषि पर आश्रित रहता था। अठारहवीं शताब्दी तक उनका जीवन ग्रामीण था, उन्होंने अपने हाथों से सब कुछ किया।

लेकिन 19वीं सदी ने कृषि और उद्योग के क्षेत्र में एक बड़ा कदम रखा, भाप इंजन की खोज वाट ने की और चरखा जेनिंग ने बनाया।

ये उस समय के चमत्कार थे। उद्योग के क्षेत्र में विज्ञान ने महान चमत्कार किया है। मिलें और कारखाने स्थापित हैं।

जहाज और रेलगाड़ियाँ शक्ति के साथ चलने लगीं। बड़े-बड़े शहर अस्तित्व में आए, कंप्यूटर और लेजर प्रिंटिंग विज्ञान का नवीनतम आश्चर्य है।

आज चिकित्सा विज्ञान ने बहुत बड़ा चमत्कार किया है। ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है जो इससे ठीक न हो। अद्भुत दवाओं का आविष्कार किया गया है जो हजारों लोगों की जान बचाती हैं।

आज कई कठिन ऑपरेशन किए जाते हैं। एक्स-रे एक बड़ा आश्चर्य है। वह दिन दूर नहीं जब निर्धनों को संतान की प्राप्ति होगी।

विज्ञान असंभव को संभावना में बदल रहा है। यह सबसे गर्म मौसम को ठंडा और सबसे ठंडे मौसम को गर्म बनाता है।

बिजली की खोज विज्ञान की बड़ी सेवा है। यह हमारी सबसे अंधेरी रातों को रोशन करता है। बिजली के बल्ब हमारे निकटतम तारे बन जाते हैं।

रेडियो, सिनेमा और टीवी आज आनंद के साधन हैं। उन्होंने हमारे जीवन को पहले से ज्यादा सुखद बना दिया है।

इंटरनेट, टेलीफोन और वायरलेस टेलीग्राफी अन्य चमत्कार हैं। हम अपने निजी कमरे में बैठते हैं और किसी अमेरिकी या लंदनवासी से बात करते हैं।

वे सूचना के लोकप्रिय साधन बन गए हैं। दुनिया में जो कुछ भी होता है उसे घर पर ही सुना और देखा जा सकता है।

आज हमारे पास तेज संचार के कई साधन हैं। रेलवे ट्रेन, मोटर-कार, हवाई जहाज, जहाज, जेट और रॉकेट हैं।

उन्होंने दूरी बहुत कम कर दी है, दुनिया पहले से छोटी है। एक आदमी लंदन में नाश्ता और बंबई में रात का खाना खा सकता है।

यह कैसा चमत्कार है। टेलीविजन एक और आधुनिक आश्चर्य है। विज्ञान ने अनगिनत चमत्कार किए हैं। रॉकेट और स्पेस यान मनुष्य को वायुमंडल से परे दूर के ग्रहों तक ले जाते हैं।

विज्ञान हमारे लिए बहुत बड़ी सुविधा लेकर आया है। हम एक बटन दबा सकते हैं और अपना खाना इलेक्ट्रिक ओवन में तैयार कर सकते हैं।

हम एक मशीन को संभाल सकते हैं और सभी खाते हल हो जाते हैं। मानव अज्ञानता, अंधविश्वास और संकीर्णता को दूर कर विज्ञान ने एक और किया है।

इसने लोगों को एक दूसरे को पूरी तरह से समझने के करीब ला दिया है। इसने हमारे दृष्टिकोण को कल्पनाशील और व्यापक बना दिया है।

हम मानवीय समस्याओं को एक अलग और निष्पक्ष तरीके से देखते हैं। इस प्रकार विज्ञान धरती पर स्वर्ग लाने जा रहा है।

लेकिन अगर विज्ञान को दुख और विनाश का कारण बनने दिया जाए, अगर उसे जाने दिया जाए नैतिक और मानवीय विचारों द्वारा निर्धारित नियंत्रण के बिना ढीला हो जाता है, तो वह एक बुरा स्वामी बन जाता है।

नैतिक रूप से पिछड़ा होना लेकिन वैज्ञानिक रूप से उन्नत होना आशीर्वाद नहीं, बल्कि अभिशाप है। जैसे कहा ही गया हैं की विज्ञान एक अच्छा सेवक है लेकिन एक बुरा स्वामी है।

Final Thoughts –

आज का यह आर्टिकल विज्ञान पर निबंध (Science Essay in Hindi) आपको कैसा लगा आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमें जरूर बताये।

यह भी पढ़े –

Leave a Comment

error: