प्लास्टिक पर निबंध – Plastic Par Nibandh in Hindi

प्लास्टिक पर निबंध – Plastic Essay in Hindi

 

वर्तमान युग में प्लास्टिक का महत्व निर्विवाद है। धरती पर सोना, चांदी, पीतल, लोहा आदि धातुए सीमित मात्रा में है। इस कमी को पूरा करने के लिए प्लास्टिक धातु का आविष्कार किया गया।

 

यह प्लास्टिक पारदर्शी होता है तथा इसे विविध रंगों में तैयार किया जाता है। यह शीत तथा ताप को पर्याप्त मात्रा में सहन करने में समर्थ होता है।

 

Plastic Essay in Hindi

 

प्लास्टिक का सर्वाधिक उपयोग दैनिक प्रयोग की वस्तुओं में होता है। रसोई घर में काम आने वाले उपकरण प्लास्टिक के बनते हैं।

 

इन उपकरणों को आसानी से साफ किया जा सकता है।  प्लास्टिक के गिलास आधा चम्मच काफी सस्ते पड़ते हैं। आजकल बच्चों के खेलने की अधिकांश खिलौने रोबोट, कार, बस, ट्रेन, गुड़िया आदि प्लास्टिक के ही बने होते हैं।

 

यह खिलौने मजबूत होते हैं तथा इनका मूल्य भी अधिक नहीं होता है।  पैकिंग की दुनिया में प्लास्टिक का महत्व सवार्धिक है।

 

कुछ वर्ष पहले तक बाजार में रद्दी कागज के बने लिफाफे में सामान मिलता था परंतु अब हर जगह पॉलिथीन का बोलबाला है। प्लास्टिक के थैले मजबूत और सस्ते होते हैं तथा इन्हें आसानी से हाथ में लटकाया जा सकता है।

 

पैकिंग में प्लास्टिक का ही सावर्धिक प्रयोग होता है। ब्रुश, साबुनदानी जैसी साधारण वस्तुएं से लेकर हवाई जहाज तक प्लास्टिक के ही बनने लगे हैं।

 

वायुयान की बॉडी के लिए एक विशेष प्रकार का मजबूत प्लास्टिक प्रयोग में आने लगा है। बाजार में प्लास्टिक द्वारा निर्मित नित्य नवीन वस्तुएं दिखाई पड़ती है।

 

वस्तुतः प्लास्टिक के बिना आज की दुनिया की कल्पना भी नहीं की जा सकती। रेडियो, टेलीविजन, टेप रिकॉर्डर आदि सभी में प्लास्टिक का प्रयोग होता है।

 

वर्षा से बचाव के लिए प्लास्टिक की तिरपालें  हल्की और मजबूत होती है। पर्यावरण की दृष्टि से प्लास्टिक को एक अभिशाप की संज्ञा दी जा सकती है।

 

यह नष्ट नहीं होता। समुंद्र में हजारों टन प्लास्टिक रोज फेंका जाता है। इससे हजारों मछलियां मरती है। यह पानी में तैरती प्लास्टिक के टुकड़ों को खाने की वस्तु समझ कर निगल लेती है जो इनकी मृत्यु का कारण बन जाती है।

 

प्लास्टिक के कारखानों से विषैला धुआ निकलता है, जो वातावरण को विषाक्त करता है। इस प्रकार प्लास्टिक को वरदान के साथ-साथ अभिशाप भी कहा जाता है।

 

Final Thoughts – 

 

आज के इस आर्टिकल में आपने Plastic Ki Duniya Par Nibandh पढ़ा। आपको यह हिंदी निबंध कैसा लगा नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमें जरूर बताये।

 

आप यह भी पढ़े – 

1 thought on “प्लास्टिक पर निबंध – Plastic Par Nibandh in Hindi”

Leave a Comment

error: