Bacteria Meaning in Hindi

Bacteria Meaning in Hindi

Noun

  • जीवाणु
  • सूक्ष्मजीव जिन्हें विशेष प्रकार के उपकरण की सहायता से ही देखा जा सकता है।
  • जीवाणु बड़ी संख्या में वायु, जल, मिट्टी और प्राणियों में पाए जाते हैं। कुछ जीवाणु बीमारी भी उत्पन करते हैं।

Adjective

  • Bacterial – जीवाणु संबंधी

Pronunciation (उच्चारण) –

  • Bacteria – बैक्टीरिया

Bacteria Meaning and Details in Hindi –

जीवाणु एक कोशिकीय सूक्ष्म जीव है जिसके आविष्कारक डच वैज्ञानिक लीवेन हॉक हैं। इनमें क्लोरोफील का अभाव रहता है। ये पूर्ण कोशिका होते हैं, डी० एन० ए० और आर० एन० ए० दोनों होते हैं।

इनकी कुछ जातियाँ मनुष्य तथा अन्य जन्तुओं की आँतों में तथा सभी प्रकार के कार्बनिक पदार्थों पर पाये जाते हैं एवं कुछ जातियाँ वायु में तैरते तथा गंदे नाले और समुद्री जल में पाये जाते हैं।

इनकी वृद्धि कोशिका विभाजन के फलस्वरूप होती है तथा इनकी प्रकृति तथा आकार-प्रकार भिन्न होते हैं। इन्हें इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप से देखा जा सकता है।

जीवाणु मुख्यतः चार प्रकार के होते हैं –

1 .बेंसीलस (Bacillus)

2 . सर्पिलाकार (Spirillum)

3 . अर्धविरामाकार (Vibro)

4 . कोकस (Cocus)

जीवाणु की संरचना (Structure) : जीवाणु कोशिका Prokayotic होते हैं, अर्थात् केन्द्रक अपने गुणसूत्री पदार्थों सहित एक निश्चित झिल्लीदार आवरण द्वारा नहीं घिरे रहते हैं।

आकार अति सूक्ष्म होने के कारण इन्हें सामान्य सूक्ष्मदर्शी यंत्र से देखना कठिन है। अतः इलेक्ट्रान सूक्ष्मदर्शी द्वारा ही इनका विस्तृत अध्ययन किया जा सकता है।

जीवाणु कोशिका एक स्पष्ट परन्तु जटिल कोशिका भित्ति द्वारा घिरा होता है, जिसमें प्रायः Chitin उपस्थित रहता है। यह भित्ति सामान्यतया एक अवर्पक स्तर (slime layer) द्वारा घिरा रहता है।

यह स्तर आवश्यकतानुसार स्पष्ट संपुट में परिवर्तित हो सकता है। कभी-कभी संपुट का बाह्रा भाग बहुत चिकना होता है।

वास्तव में भित्ति की रचना Mucopolysaccharide अथवा Lipo-protein complex की बनी होती है, जो जीवाणु के विभिन्न प्रकारों में बदलती है विभिन्न प्रकार के जीवाणु केशाभिकयुक्त अथवा केशाभिक रहित होते हैं।

कोशिकाभित्ति के अंदर एक जीवद्रव्यकला (Plasma membrane) उपस्थित रहता है, जो लाइपोप्रोटीनयुक्त होता है।

इस कला (झिल्ली) के अंदर कोशिकाद्रव्यी पदार्थ (Cytoplasmic materials) एक समानता फैला रहता है।

इसमें कई छोटी रिक्तिकाएँ (Vacuoles) संचित खाद्य कणिकाएँ (Stored food grains) तथा केन्द्रक पदार्थ (Nuclear material) पाए जाते हैं।

कोशिका द्रव्य दानेदार होता है। जीवद्रव्यकला पर बहुत से श्वसन एनजाइम तथा Cytochrome पाये जाते हैं।

कोशिका से केन्द्रकीय पदार्थ में Chromotain की उपस्थिति रहने के कारण गुणसूत्रों को निरूपित करने में सुविधा होती है।

Ribosome स्वतंत्र रूप से कोशिकाद्रव्य में पाए जाते हैं। ये Protein synthesis से संबंधित रहते हैं। प्रारंभ में केन्द्रकीय द्रव्यों के संगठन तथा कोशिका विभाजन की विधि में मतभेद था। क्योंकि उन दिनों Incipient Nuceus मत को माना जाता था।

परन्तु इलेक्ट्रोन सूक्ष्मदर्शी यंत्र की सहायता से यह सुनिश्चित हो गया कि कोशिका में DNA नामक रचना के विभाजन के साथ कोशिका विभाजन भी होता है।

यह DNA ही गुणसूत्रों का आनुवांशिक पदार्थ है तथा वंशागत लक्षणों के संरचन के लिए उत्तरदायी है।

श्वसन (Respiration) : अधिकांश जीवाणु ऑक्सीजन की उपस्थिति में श्वसन क्रिया संपन्न करते हैं। ऐसे जीवाणुओं को ऑक्सीय जीवाणु (Aerobic bacteria) अथवा जारक (Aerobes) कहते हैं।

परन्तु कुछ ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में भी रह सकते हैं। इन्हें अनौक्सीय जीवाणु अथवा अजारक कहा जाता है।

Other Most Important Meaning in Hindi –

Leave a Comment

error: