Atmosphere Meaning in Hindi

Atmosphere Meaning in Hindi

Noun

  • वायुमंडल
  • पृथ्वी या किसी अन्य ग्रह आदि के चारों ओर गैसों का आवरण
  • दाब की एक माप

Pronunciation (उच्चारण)

  • Atmosphere – एटमॉसफिअर

Atmosphere Meaning and Definition in Hindi

वायुमंडल विभिन्न प्रकार की गैसों का मिश्रण है। यह पृथ्वी को हर ओर से ढंके हुए है। इसमें मनुष्यों एवं जन्तुओं के जीवन के लिए आवश्यक गैसें, जैसे ऑक्सीजन तथा पौधों के जीवन के लिए कार्बन डाइऑक्साइड पाई जाती है।

वायु पृथ्वी के द्रव्यमान का अभिन्न भाग है, तथा इसके कुल द्रव्यमान का 99 प्रतिशत पृथ्वी की सतह से 32 कि.मी. की ऊँचाई तक स्थित है।

वायु रंगहीन तथा गंधहीन होती है। वायुमंडल अलग-अलग घनत्व तथा तापमान वाली विभिन्न परतों का बना होता है।

पृथ्वी की सतह के पास घनत्व अधिक होता है जबकि ऊँचाई बढ़ने के साथ-साथ यह घटता जाता है। तापमान की स्थिति के अनुसार वायुमंडल को पाँच निम्नांकित विभिन्न संस्तरों में बाँटा गया है।

क्षोभमंडल, समतापमंडल, मध्यमंडल, आयनमंडल, बाह्यमंडल।

क्षोभमंडल वायुमंडल का सबसे नीचे का संस्तर है। इसकी ऊँचाई 13 कि.मी. है तथा यह ध्रुव के निकट 8 कि.मी. तथा विषुवत रेखा पर 18 कि.मी. की ऊँचाई तक है।

क्षोभमंडल की मोटाई विषुवत् रेखा पर सबसे अधिक है। क्योंकि तेज वायु प्रवाह के कारण ताप का अधिक ऊँचाई तक संवहन किया जाता है।

इस संस्तर में धूलकण तथा जलवाष्प मौजूद होते हैं। मौसम में परिवर्तन इसी संस्तर में होता है। इस संस्तर में प्रत्येक 165 मी. की ऊँचाई पर तापमान घटता है।

जैविक क्रिया के लिए यह सबसे महत्वपूर्ण संस्तर है। क्षोभमंडल और समतापमंडल को अलग करने वाले भाग को क्षोभ सीमा कहते हैं।

विषुवत रेखा के ऊपर क्षोभ सीमा में हवा का तापमान 80°C और ध्रुव के ऊपर 45°C होता है। यहाँ पर तापमान स्थिर होने के कारण इसे क्षोभ सीमा कहा जाता है।

समतापमंडल इसके ऊपर 50 कि.मी. की ऊँचाई तक पाया जाता है। समतापमंडल में ओजोन परत पायी जाती है। यह परत पराबैंगनी किरणों को अवशोषित कर पृथ्वी को ऊर्जा के तीव्र तथा हानिकारक तत्त्वों से बचाती है।

मध्यमंडल समतापमंडल के ठीक ऊपर 80 कि.मी. की ऊँचाई तक फैला होता है। इस संस्तर में भी ऊँचाई के साथ-साथ तापमान में कमी होने लगती है और 80 कि.मी. ऊँचाई तक पहुँचकर यह 100°C हो जाता है।

मध्यमंडल की ऊपरी सीमा को मध्य कहते हैं। आयनमंडल मध्यमंडल के से 400 किलोमीटर इसमें विद्युत आवेशित कण पाए जाते हैं, जिन्हें आयन कहते हैं तथा इसलिए इसे आयनमंडल के नाम से जाना जाता है।

पृथ्वी के द्वारा भेजी गई रेडियो तरंगें इस संस्तर के द्वारा वापस पृथ्वी पर लौट आती हैं। यहाँ पर ऊँचाई बढ़ने के साथ ही तापमान वृद्धि शुरू हो जाती है।

वायुमंडल का सबसे ऊपरी संस्तर जो आयनमंडल के ऊपर स्थित होता है उसे बाह्यमंडल कहते हैं। यह सबसे ऊँचा संस्तर है तथा इसके बारे में बहुत कम जानकारी उपलब्ध है।

इस संस्तर में मौजूद सभी घटक विरल हैं। ये घटक धीरे-धीरे बाहरी अंतरिक्ष में मिल जाते हैं।

Also Read –

Leave a Comment

error: